पौड़ी में पट्टा लेकर अवैध खनन करते हुये  टिहरी की सीमा में दाखिल हुये खनन कारोबारी!टिहरी -पौड़ी प्रशासन बना मूकदर्शक..

0
4
पौड़ी में पट्टा लेकर अवैध खनन करते हुये  टिहरी की सीमा में दाखिल हुये खनन कारोबारी!टिहरी -पौड़ी प्रशासन बना मूकदर्शक..
जागो ब्यूरो एक्सक्लूसिव
https://youtu.be/ssQaxjGv8tw
पौड़ी जनपद की तहसील श्रीनगर क्षेत्रांतर्गत श्रीकोट गंगानाली में खननकारी खनन करते-करते टिहरी जिले में पहुंच गए हैं। चांदी काटने के चक्कर में टिहरी जिले की सीमा में जमकर रेत-पत्थर उठाए जा रहे हैं। लेकिन टिहरी और पौड़ी प्रशासन चुप बैठा है।दरअसल पौड़ी जिले में श्रीकोट गंगानाली मेें अलकनंदा नदी में दो खनन पट्टे आंवटित हुए हैं। इन दिनों यहां जमकर खनन सामग्री का दोहन हो रहा है। खास बात यह है कि खननकारी को पौड़ी जिले में पट्टा आंवटित हुआ है। लेकिन खनन टिहरी जिले की सीमा में किया जा रहा है। पूर्व में उक्त क्षेत्र में पट्टे आंवटित हुए थे। तब भी ऐसा ही हुआ था। बताया जा रहा है कि इससे खननकारियों को करोड़ों का फायदा होता है। क्योंकि प्रशासन की ओर से यहां सीमांकन नहीं कराया जाता। इसके अलावा कई बार प्रशासन की ओर से सीमांकन के लिए लगाए गए पत्थरों की जगह ही बदल दी जाती है। पौड़ी और टिहरी प्रशासन की चुप्पी की मुख्य वजह खनन कारोबारियों की स्थानीय सत्ताधारी नेता से नजदीकी बतायी जा रही है,ऐसे में मजाल है प्रशासन अवैध खनन कारोबारियों  पर नकेल कस सके!जीरो टॉलरेन्स वाली सरकार इससे पहले पौड़ी जनपद के कोटद्वार में रिवर ट्रेनिंग के नाम पर जेसीबी और पोकलैंड से खनन करवा चुकी है,स्थानीय जनता लगातार विरोध करती रही मगर स्थानीय प्रशासन और सरकार ने अपने कानों में रुई डालकर जनता की आवाज़ को अनसुना कर दिया,अब लुटने का नंबर श्रीनगर का लगता है क्योंकि यँहा भी प्रशासन और सरकार ने अपने कानों में रूई डाल ली है और आँखों को बंद कर लिया है,शायद 2022  चुनाव के लिये तैयारी शुरू हो गयी है

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY