Take care of yourself when you pass near a under construction Flyover in Dehradun…

0
200

दून में फ्लाईओवर के पास से गुजरना संभल-संभल के…
जागो ब्यूरो रिपोर्ट

बनारस के फ्लाईओवर हादसे की रूह को कंपा देने वाली तस्वीरें अभी भी ताजा है,जिसमें फ्लाईओवर के पास से गुजर रही कई गाड़ियां अचानक फ्लाईओवर के ढहने से बुरी तरह कुचली गयी और दर्जनों लोग बेवजह बेमौत मारे गये,देहरादून में भी आजकल कई फ़्लाईओवर बन रहे हैं,इन फ़्लाईओवर्स के बनने से खासतौर पर रेलवे क्रासिंग पर लगने वाले जाम से निज़ात मिलने और देहरादून आने और जाने वाले यात्रियों को घंटो जाम में न फंसे रहने की उम्मीद है,इन फ्लाईओवर्स में एक फोर लेन फ्लाईओवर आईएसबीटी और रिस्पना पुल के बीच ब्रह्मपुत्र इंफ्रास्ट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड कम्पनी लगभग 50 करोड़ की लागत से बना रही है,फ़्लाईओवर में कई जगह शटरिंग,स्लैब का काम पूरा होने के बाद भी झूल रही है,तो कँही मोनो रेल को लगाने में लगे नट बोल्ट्स लापरवाही से लगे हुये साफ देखे जा सकते हैं,साथ ही मोनो रेल को कोई सपोर्ट भी नहीं दिया गया है,जिससे फ़्लाइओवर के अगल बगल और फ्लाईओवर के नीचे से गुजरने वाले वाहनों पर इनके गिरने का ख़तरा हरदम बना हुआ है, कम्पनी की लापरवाही का आलम यह है कि मौके पर काम कर रहे मजदूर भी,इस तरह का खतरे वाला काम करने के लिए आवश्यक हेलमेट,जैकेट और शूज पहने बिना,अपनी जान को जोख़िम में डालकर काम करते हुये कभी भी बड़े हादसे का शिकार हो सकते हैं, ऐसे में यँहा काम करने वाले मजदूर और फ्लाईओवर के पास से गुजरने वाला ट्रैफिक किसी बड़े हादसे का शिकार हो जाये इस सम्भावना से इन्कार नहीं किया जा सकता “जागो उत्तराखण्ड”द्वारा इस लापरवाही के बाबत नेशनल हाईवे के सहायक अभियन्ता प्रवीण सक्सेना ने पूछे जाने पर, उन्होंने निर्माणकारी कम्पनी को इस तरह की लापरवाही न बरतने को चेताया है ,उन्होंने बताया कि हालाँकि इस फ्लाईओवर को पूरा करने की नियत तिथि 15 दिसम्बर 2018 है,लेकिन इसे 31 अक्टूबर 2018 तक पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है, बहरहाल फ्लाईओवर का काम जल्दी पूरा होना अच्छी ख़बर है, लेकिन केवल उम्मीद ही की जा सकती है कि जल्दी काम निबटाने के चक्कर में निर्माणकारी कम्पनी की लापरवाही किसी पर भी भारी न पड़े,इसलिए फ़िलहाल फ्लाईओवर के पास या नीचे से गुजरने वाले सभी यात्री अपनी सुरक्षा का ध्यान स्वयँ रखें,क्योंकि जान है तो जहान है…

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY