Chief Secretary Utpal Kumar takes notice of “Jago Uttarakhand “story on Bachna sharma harassment case…

0
359

मुख्य सचिव उत्पल कुमार ने ले लिया लाखामण्डल की समाजसेवी महिला के उत्पीड़न मामले में “जागो उत्तराखण्ड” की ख़बर का संज्ञान …

लाखामण्डल की समाजसेवी महिला के उत्पीड़न मामले में “जागो उत्तराखण्ड” की ख़बर का संज्ञान उत्तराखण्ड के मुख्य सचिव उत्पल कुमार ने ले लिया है ,उन्होंने देहरादून के जिलाधिकारी मुरुगेशन को तलब कर बचना की पुत्री का जनजाति प्रमाणपत्र रद्द किये जाने के मामले की फ़ाइल दोबारा खुलवा दी है ,जिसके बाद दून प्रशासन में हड़कंप है और इस बात की जाँच शुरू हो गयी है कि किस आधार पर बचना की पुत्री को दिए गए जनजाति प्रमाणपत्र को अब गलत ठहराया जा रहा है? इस प्रकरण में चकराता के तहसीलदार और राजस्व कर्मचारियों की भूमिका जाँच के घेरे में है जिसका खुलासा जल्द होने की सम्भावना है उधर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह जो कि स्थानीय विधायक भी हैं, ने भी बचना के मामले में शासन – प्रशासन से बात करने का आश्वासन दिया है, मामला कुछ इस तरह है…

केन्द्र सरकार के “बेटी पढ़ाओ- बेटी बचाओ”अभियान के उलट काम कर रहे स्थानीय भाजपा नेताओ से आक्रान्त महिला ने दी पुत्री के साथ आत्महत्या की धमकी…

लाखामण्डल क्षेत्र की महिला समाजसेविका बचना शर्मा ने स्थानीय भाजपा नेताओ गीता राम गौड़ और सुशील गौड़ पर आरोप लगाया है, कि वो उसकी पुत्री का जनजाति प्रमाणपत्र रद्द कराने के लिए सरकारी मशीनरी और सत्ताधारी दल का गलत प्रयोग कर रहे हैं, दरसअल कई वर्ष पहले कोई व्यक्ति बचना से शारीरिक सम्बन्ध बनाकर उसको गर्भवती कर गायब हो गया,बाद में बचना ने एक बच्ची को जन्म दिया , कई साल इस उम्मीद में कि वो वापस आएगा वो उसका इंतज़ार करती रही ,बाद में जब उस पर सामाजिक दवाब बढ़ने लगा, तो उसने स्थानीय व्यक्ति ओमप्रकाश का नाम बच्ची के बतौर अभिवावक /पिता के रूप में रख लिया ,बचना का आरोप है कि स्थानीय भाजपा नेता गीता राम गौड़ और सुशील गौड़ सरकारी मशीनरी और सत्ताधारी दल का गलत प्रयोग कर बच्ची के जैविक पिता को तमिलनाडू का बताकर उसकी पुत्री का जनजाति प्रमाणपत्र रद्द करवाना चाहते हैं, जबकि उक्त व्यक्ति उसको गर्भवती करने के बाद से ही लापता है और उसका पता ठिकाना किसी को पता नहीं है ,बचना स्वयं जनजाति मूल की है और बच्ची को पिता का नाम देने वाला ओमप्रकाश भी जनजातिं मूल का है ,ऐसे में समाज से संघर्ष कर एक बिन ब्याही माँ बन बेटी को जन्म देने वाली बहादुर महिला बचना की हिम्मत अब टूटने लगी है और स्थानीय भाजपा नेताओं गीता राम गौड़ और सुशील गौड़ से लगातार उत्पीड़न झेल रही बचना अब पुत्री समेत आत्महत्या का मन बना रही है, लेकिन आज कांग्रेस प्रदेश महासचिव आजाद अली से मिले हरसम्भव मदद के आश्वासन के बाद,फिलहाल उसने अगले सप्ताह तक अपना ये इरादा टाल दिया है…

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY