पौड़ी और आसपास पर्यटकों को आकर्षित करने का संजीदा प्रयास:खिर्सू में बर्ड वाचिंग प्रशिक्षण..

0
306

पौड़ी और आसपास पर्यटकों को आकर्षित करने का संजीदा प्रयास:खिर्सू में बर्ड वाचिंग प्रशिक्षण..
भगवान सिंह,जागो ब्यूरो रिपोर्ट:

पौड़ी जनपद के हिल स्टेशन खिर्सू से पर्यटन की सम्भावनाओ को तलाशते हुए एवं जनपद पौड़ी में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए जनपद में पहली बार बर्ड वाचिंग प्रशिक्षण शुरू किया गया है,बर्ड वाचिंग का ये प्रशिक्षण बर्ड वाचिंग के एक्सपर्ट्स द्वारा सरकारी स्कूल से चयनित पच्चीस छात्र-छात्राओं के एक दल को दिया जा रहा है,जो भविष्य में पर्यटकों के गाइड बनकर परिंदो की सम्पूर्ण जानकारी खिर्सू और अन्य हिल स्टेशनों का रुख करने वाले पक्षी प्रेमी व पर्यटकों को इस प्रशिक्षण को लेकर दे पाएंगे,साथ ही पर्यटकों का गाइड बनकर खुद के लिए एक अच्छा ख़ासा रोज़गार भी ये छात्र-छात्रायें आसानी से जुटा पायेंगे, पाँच दिनों तक चलने वाले इस वर्ड वाचिंग प्रशिक्षण में छात्र-छात्रायें बारीकी से पक्षियों की चहलकदमी का अध्ययन कर रहे हैं,वहीं पाँच दिनों के लिये के लिये खिर्सू हिल स्टेशन पहुंचे बर्ड वाचिंग एक्सपर्ट्स की माने तो विश्व मे लगभग तेरह हज़ार प्रजाति के पक्षी पाये जाते हैं जबकि भारत में तेरह सौ और उत्तराखण्ड में करीब सात सौ प्रजाति के पक्षी मौजूद हैं, जबकि इनमें से भी छः सौ प्रजाति के पक्षी अकेले पौड़ी जनपद में ही पाये जाते है,वहीं कई परिंदे सीजनल पहाड़ी क्षेत्रों का रुख करते हैं,ऐसे में इनकी प्रजातियों के साथ ही सम्पूर्ण डाटा का संकलन तो किया जा ही रहा है, साथ ही इन पक्षियों के नाम के साथ ही इनकी चहलकदमी की पूरी जानकारी भी इन दिनों छात्र- छात्राओं को दी जा रही है,इस प्रशिक्षण को ले रहे छात्र-छात्रायें भी प्रशिक्षण लेकर खासे उत्साहित हैं,ऐसे में छः सौ प्रजाति के पक्षी पौड़ी में होने का फायदा अब पौड़ी जनपद के पर्यटन को नई पहचान दिलाने के तौर पर लिया जायेगा,जिससे आने वाले समय मे पर्यटन को बढ़ावा मिलने से पौड़ी और खिर्सू हिल स्टेशन पहुचने वाले पर्यटक या पक्षी प्रेमी इन छात्र-छात्राओं की गाइड के तौर पर सेवा लेकर स्थानीय स्तर पर स्वरोजगार को स्थापित करने में भी एक बड़ी भूमिका अदा करेंगे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY