श्रीनगर में “जागो उत्तराखण्ड” की ख़बर का बड़ा असर अलकनन्दा में अवैध खनन करने पर खनन पट्टाधारियों पर 44 लाख की पेनाल्टी!..

0
86

श्रीनगर में “जागो उत्तराखण्ड” की ख़बर का बड़ा असर अलकनन्दा में अवैध खनन करने पर खनन पट्टाधारियों पर 44 लाख की पेनाल्टी!..

जागो ब्यूरो रिपोर्ट:

श्रीनगर में एक बार फिर “जागो उत्तराखण्ड” की खबर का दमदार असर हुआ है,कुछ दिन पहले हमने आपको खबर दिखायी थी कि कीर्तिनगर/श्रीनगर के चौरास इलाके में टिहरी प्रशासन द्वारा रिवर ट्रेनिंग के जरिये खनन के पट्टे आवंटित किये है,जिसमें पोकलैंड मशीनों से भारी मात्रा में अवैध खनन किया जा रहा था, जिसमे मानकों को ताक में रखकर खनन कारोबारी खनन कर रहे थे,साथ ही खनन कारोबारियों का पट्टा तो टिहरी जनपद में दिया गया था,लेकिन खनन पौड़ी जनपद की सीमा के अन्दर घुसकर भी किया जा रहा था,जिससे पर्यावरण को भारी नुकसान और आस पास की बस्तियों में भूस्खलन का खतरा तो मंडरा ही रहा था,सरकार को भारी भरकम राजस्व हानि भी हो रही थी,इस संबंध में “जागो उत्तराखण्ड”द्वारा उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत को अवगत कराये जाने पर उन्होंने आवश्यक कार्यवाही का आश्वासन दिया था,जिसके बाद खबर का संज्ञान लेते हुये टिहरी की कीर्तिनगर तहसील के उपजिलाधिकारी सन्दीप तिवारी द्वारा जांच टीम गठित की गयी और कीर्तिनगर क्षेत्र के सभी पट्टो का मुयावना करवाया गया,खनन पट्टो में तयशुदा मानकों का उल्लंघन करते हुये अवैध खनन करने पर चौरास क्षेत्र के मणि ओर नोर में खनन पट्टाधारियों पर लगभग 28 लाख की पेनाल्टी और जुयालगढ़ पट्टे में अवैध खनन पर पेनाल्टी मिलाकर, कीर्तिनगर में संचालित तीनो पट्टो पर 44 लाख की पेनाल्टी लगायी गयी है,साथ ही खनन पट्टाधारियों को आगे से नियमो के अनुरूप काम न करने पर पट्टा निरस्तीकरण की भी चेतावनी दे दी गयी है,ये जानकारी तहसीलदार कीर्तिनगर साक्षी उपाध्याय द्वारा “जागो उत्तराखण्ड” को उपलब्ध करायी गयी है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY