जिला पंचायत पौड़ी शहर में ही कर रही बड़ा फर्जीवाड़ा,बनवा रही अलग-अलग नाम से एक ही आवासीय भवन..

0
360

जिला पंचायत पौड़ी शहर में ही कर रही बड़ा फर्जीवाड़ा,बनवा रही अलग-अलग नाम से एक ही आवासीय भवन..
जागो ब्यूरो एक्सक्लूसिव:

जिला पंचायत पौड़ी के पूर्ववर्ती कार्यकाल के अब तक सत्तर करोड़ से ज्यादा के घोटाले प्रकाश में आ चुके हैं,जिसमें सोलर लाइट की खरीद में घोटाला,कल्जीखाल ब्लॉक में ग्रामीणों द्वारा श्रमदान से बनाई गयी सड़क पर सत्तर लाख का भुगतान,कोट ब्लॉक में राजराजेश्वरी मंदिर के समीप सामुदायिक भवन पर अलग अलग नाम से एक ही काम और भुगतान,आदि आदि,लेकिन जिला पंचायत का एक ताजातरीन घोटाला पौड़ी शहर में ही आजकल अंजाम दिया जा रहा है,जिला पंचायत द्वारा पौड़ी के सिविल लाइन इलाके में लोक निर्माण विभाग प्रान्तीय खण्ड कार्यालय के पास जिला पंचायत पौड़ी के एक पुराने भवन को नियमतः निष्प्रयोज्य घोषित किये बिना और उसके ध्वस्तीकरण के बाद बिना इसके सामान की नीलामी के टेंडर प्रक्रिया किये,पहले तो लाखों के सामान को ठिकाने लगा दिया गया और फिर इस भवन के काम को चार हिस्सों में बाँटकर,एक ही भवन के दस-दस लाख के चार टेंडर, दो टेंडर प्रान्तीय खण्ड के पास स्थित भवन का निर्माण और दो मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय के पास भवन का निर्माण दिखाते हुये निकाले गये ,ऐसा ई-टेंडर प्रक्रिया से बचने,क्योंकि 24 लाख से ऊपर की लागत के काम ई-टेंडर के माध्यम से विज्ञापित करना नियमतः आवश्यक था किया गया,काम का विज्ञापन ऐसे अखबारों में निकाला गया,जिनका पौड़ी में न के बराबर सर्कुलेशन है,ताकि चहेते ठेकेदार के अलावा किसी और की काम पर नजर ही न पड़े,इसके बाद यह काम जिला पंचायत पौड़ी के ही एक कर्मचारी के रिश्तेदार को दे दिया गया,जिला पंचायत का यह कर्मचारी आपको दिन की रोशनी में ही इस काम की देखरेख करते हुये नजऱ भी आ सकता है,नियमतः जिला पंचायत में नियुक्त अधिकारी/कर्मचारी या अन्य संवैधानिक पदों पर नियुक्त व्यक्ति या उनके रिश्तेदार जिला पंचायत द्वारा करवाये जा रहे कामों को नहीं कर सकते,लेकिन जिला पंचायत पौड़ी में भ्रष्टाचार का आलम यह है कि यहां तो जिला पंचायत के कर्मचारी और उनके रिश्तेदार भी ठेकेदार बने हुये हैं,पौड़ी निवासी करण रावत ने यह जानकारी सूचना के अधिकार में हासिल की है,करण के पास जिला पंचायत पौड़ी के घोटालों की जो लंबी फेहरिस्त है,उसमें से यह घोटाला अभी हो ही रहा है, इसलिए अगर आप पौड़ी के जिम्मेदार नागरिक हैं तो स्वयं भी सिविल लाइन पौड़ी पहुंचकर,इस मामले की पड़ताल करें और इसे अपनी आंखों से देखें,जिससे आपके ही धन की इतनी बड़ी बंदरबाँट को रोकने के लिये संगठित रूप से लड़ाई लड़ी जा सके और इस बड़े घोटाले के दोषी व्यक्तियों के खिलाफ आपराधिक धाराओं में कार्यवाही भी करवायी जा सके,जिससे भविष्य में कोई भी जनता की गाढ़ी कमाई से उपजे धन की बंदरबाँट करने की हिम्मत न कर सके।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY