14 YEARS 36 CARORE, AT LAST CHAURAS BRIDGE INAUGURATED

0
187

14 साल बाद 36 करोड़ की लागत से बने चौरास पुल का आखिरकार लोकार्पण…

उत्तराखण्ड सरकार का कल से गैरसैंण में विधानसभा सत्र आयोजित होने जा रहा है, इससे पहले आज मुख्यमन्त्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत समेत राज्य के तमाम कैबिनेट मन्त्री व विधायक देहरादून से ही कार द्वारा पहाड़ चढने शुरू हो गये,इस बीच मुख्यमन्त्री त्रिवेन्द्र रावत ने ऋषिकेश-देवप्रयाग-श्रीनगर के बीच चल रहे आॅल वेदर सड़क कार्य का निरीक्षण भी किया, इसके बाद श्रीनगर मे मुख्यमन्त्री ने 14 सालों से बन रहे चौरास मोटर पुल का उद्घाटन किया, जहां उनके साथ उच्च शिक्षा मन्त्री धन सिंह रावत,पर्यटन मन्त्री सतपाल महाराज, देवप्रयाग विधायक विनोद कण्डारी, लैन्सडाउन विधायक दिलीप रावत मौजूद रहे,14 साल से बन रहा चौरास पुल आखिरकार अपनी शुरूआती बजट के चार गुना ज्यादा की लागत से बनकर तैयार हुआ, इस पुल के दो बार गिरने मे एक इंजीनियर समेत 8 लोगों की मौत हो गई थी,आपको बता दें कि 2003 मे तत्कालीन सडक परिवहन भूतल मंत्री भवन चंद्र खंडूरी का ये एक ड्रीम प्रोजेक्ट था,जो भ्रष्टाचार की भेंट चढा और सुस्त गति से कार्य का ही नतीजा है कि इस पुल को बनने में 14 साल का समय लग गया और 11 करोड़ का पुल 14 साल बाद पुल 36 करोड़ मे बनकर तैयार हुआ, पुल बनने से श्रीनगर ओर चौ

रास को जोडने वाले इस मोटर पुल से चौरास क्षेत्र के 25 से ज्यादा ग़ाँव और गढवाल विश्वविद्यालय के हजारों छात्र छात्राओं को लाभ मिलेगा…

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY